Latest News

दुनिया की ये ‘डेथ सेंटर’ जेलें जहां एक-दूसरे को मारकर खा जाते हैं कैदी


 



डियारबाकिर जेल, तुर्की



तुर्की की इस जेल को सबसे ज्यादा मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों में पहले नंबर पर रखा जाता है। इस जेल में कैदियों की मृत्यु दर दुनिया की सभी जेलों में दूसरे नंबर पर है। इस जेल पर दुनिया भर की निगाह तब गईं जब एक मानवाधिकार संगठन ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि साल 1981 से 1984 के बीच यहां 34 कैदियों की असामान्य परिस्थितियों में मौत हो गई। यहां कैदियों को मानसिक और शारीरिक यातनाएं देने के साथ ही उनका यौन शोषण भी किया जाता है।

टडमोर जेल, सीरिया

सीरिया की यह जेल ‘डेथ वारंट’ के नाम से जानी जाती है। इस जेल में कैदियों की मृत्यु दर सीरिया में सबसे ज्यादा है। यहां कैदियों को भीषण यातनाओं से गुजरना पड़ता है। कैदियों की पिटाई और खाना न देना यहां आम बात है। सबसे ज्यादा दिक्कत यहां के लोकल गैंग की मौजूदगी से होती है। साल 1980 में सीरिया के राष्ट्रपति हफेज अल असद के आदेश पर लगभग 2400 कैदियों को मार दिया गया था। 

 टेक्सास स्टेट पेनिटेन्शरी

यह अमेरिका की सबसे खतरनाक जेल है। पूरे अमेरिका से खतरनाक कैदियों को लाकर इस जेल में रखा जाता है। इस जेल में कई बार गैंगवार की घटनाएं भी देखने को मिलीं हैं। जेल में कैदियों की मृत्यु दर के मामले में भी यह जेल अव्वल है।

 ला सांते जेल, फ्रांस

ला सांते जेल फ्रांस की राजधानी पेरिस से कुछ मील की दूरी पर स्थित है। ये जेल ‘सुसाइड सेल’ के नाम से भी मशहूर है। साल 1867 में जब से इसे शुरू किया गया तब से ही यहां असामान्य परिस्थितियों में आत्महत्या करने के सैंकड़ों मामले सामने आए हैं। साल 1999 में 124 कैदियों ने जेल के अंदर ही सुसाइड कर लिया। कुछ लोग इस जेल में बुरी आत्माओं के साए की बात भी कहते हैं।

 कैम्प 22, नॉर्थ कोरिया

यह जेल नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग इल के आदेश पर साल 1965 में बनी थी। इसमें 50 हजार से अधिक कैदी रहते हैं। यहां कोई भी क्राइम करने पर कैदियों की तीन पीढिय़ों को उम्रकैद की सजा भुगतनी पड़ती है। सरकार का मानना है कि इससे क्राइम की जड़ ही खत्म हो जाती है। ऐसा कहा जाता है इस जेल में कैदियों पर बॉयलोजिकल वेपन को टेस्ट किया जाता है।

गीतारामा सेंट्रल जेल, रवांडा

यह दुनिया की सबसे खतरनाक जेलों में से एक है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि यह जेल सुरक्षाकर्मियों नहीं बल्कि यहां मौजूद कैदियों की वजह से ही बदनाम है। यहां के बारे में मशहूर है कि कैदी इस जेल में एक-दूसरे को मारकर भी खा जाते हैं। इस जेल में कैदियों की क्षमता 600 है जबकि यहां 7 हजार से ज्यादा कैदी रखे गए हैं।

 अल हायर जेल, सऊदी अरब

इस जेल को मिडिल ईस्ट की सबसे खतरनाक जेल कहा जाता है। यहां कैदियों पर तरह-तरह के अत्याचार किये जाते हैं। टॉर्चर का विरोध करने वाले कैदियों को मार डालना यहां आम बात है। कहा जाता है कि टॉर्चर से तंग आकर साल 2002 में कुछ कैदियों ने इस जेल में आग लगा दी थी जिसमें 140 कैदी और 40 गार्ड मारे गए थे।

 ला साबानेटा, वेनेजुएला

वेनेजुएला की यह जेल अपने क्रूर कैदियों के लिए मशहूर है। यहां लगभग हर रोज हिंसा होती है और इस हिंसा में कैदी मारे भी जाते हैं। साल 1994 में इस जेल के अन्दर भीषण गैंगवार हुई थी जिसमें 100 कैदी मारे गए थे। खबरों के मुताबिक आज भी इस जेल में वेनेजुएला के सबसे बड़े गैंग का राज चलता है।

बेंगवेंग जेल, थाइलैंड

थाइलैंड की यह जेल ‘बैंकॉक हिल्टन’ के नाम से भी जानी जाती है। यहां कैदियों को कैमिकली भी टॉर्चर किया जाता है। यहां मृत्युदंड पाए हुए कैदियों को लोहे की जंजीरों से बांधकर रखा जाता है। मृत्युदंड के लिए यहां पहले सर काटने के तरीकों का भी इस्तेमाल किया जाता था।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Recent Blog